brown bread benefits! ब्राउन ब्रेड के फायदे और नुकसान


पूरी दुनिया में लगभग 70% तक ब्रेड की खपत होती है l
कुछ लोग सफेद ब्रेड का इस्तेमाल करते हैं l तो कुछ लोग ब्राउन ब्रेड मगर क्या आपको मालूम है l की ब्राउन ब्रेड के फायदे brown bread benefits कितने होते हैं l दरअसल ब्राउन ब्रेड व्हाइट ब्रेड के मुकाबले में ज्यादा फायदेमंद इसलिए होता है l

कि यह मोटा अनाज से तैयार किया जाता है l तथा पूरी तरह से पका हुआ होता है l इसके अंदर फाइबर की अधिक मात्रा पाई जाती है l क्योंकि इसके अंदर मैदा शामिल नहीं किया जाता है l यह जल्दी और आसानी से हजम हो जाता है l तथा पेट को कुछ देर तक भर रखा रखता है l

सफेद ब्रेड की भांति ब्राउन ब्रेड का इस्तेमाल ज्यादा फायदेमंद होता है इसके इस्तेमाल से ब्लड प्रेशर सामान्य रहता हैl जिसके कारण हार्ट अटैक का खतरा नहीं रहता है l

ब्राउन ब्रेड के अंदर कई सारे तत्व जैसे मैग्नीशियम, आयरन, विटामिन बी6, विटामिन ई, फोलिक एसिड, कॉपर जिंक जैसे कई खनिजों का अच्छा स्रोत पाया जाता है l यह सारे पोषक तत्व ऊर्जा उत्पादन और प्रतिरक्षा प्रणाली के स्वास्थ्य के साथ-साथ चयापचय को भी संतुलित करने का काम करता है l ब्राउन ब्रेड के फायदे, brown bread benefits, हमारे लिए अनगिनत है l इसलिए हमें चाहिए कि हम व्हाइट ब्रेड की जगह ब्राउन ब्रेड का इस्तेमाल करें l

brown bread benefits ब्राउन ब्रेड के फायदे


1. ब्लड शुगर के लिए l


अगर कोई ब्लड शुगर का पेशेंट है l तो उसके लिए ब्राउन ब्रेड खाना बेहतर विकल्प हो सकता है l क्योंकि ब्राउन ब्रेड के फायदे ब्लड शुगर की समस्या से परेशान लोगों के लिए देखे जा सकते हैं l ब्राउन ब्रेड के अंदर ग्लाइसेमिक इंडेक्स काफी कम होता है l जिससे शुगर लेवल कंट्रोल रहता है l


2. शारीरिक ऊर्जा के लिए l


ब्राउन ब्रेड शरीर में ऊर्जा बढ़ाने और शरीर को स्वस्थ रखने में बेहद फायदेमंद होता है l ब्राउन ब्रेड के अंदर कई सारे पोषक तत्व ऐसे होते हैं जो आपके शरीर में ऊर्जा को बढ़ाने का काम आसान कर देते हैं l ब्राउन ब्रेड के अंदर विटामिन जिंक कॉपर जैसे तत्व होते हैं l यह हमारे शरीर को ऊर्जावान बनाने में मदद करते हैं l


3. वजन कम करने में फायदेमंद l


ब्राउन ब्रेड एक फाइबर से भरपूर तथा मोटा अनाज से बना होता है l जिसके कारण अगर आप इसे दिन में एक टाइम खा लेते हैं l तो दूसरे टाइम जल्दी भूख नहीं लगती है l यह पेट को काफी समय तक भरा रखने का काम करता है l जिसके कारण यह वजन घटाने में और वजन को कंट्रोल करने में काफी बेहतरीन विकल्प हो सकता है l


4. दातों और हड्डियों के लिए फायदेमंद l


ब्राउन ब्रेड के फायदे दांतों में हड्डियों के लिए इसलिए माना जाता है l क्यूंकियह साबुत अनाज यानी छिलका रहित गेहूं से बनता है l जिसके कारण इसमें फाइबर और प्रोटीन विटामिन जिंक कॉपर मैंगनीज कैल्शियम इत्यादि सफेद ब्रेड की तुलना में कई गुना अधिक पाया जाता है l जिसके कारण ब्राउन ब्रेड का सेवन करने से दांत मजबूत होते हैं l तथा यह दांतों को सड़ने से बचाता है l इसके साथ ही कैल्शियम की मात्रा पाया जाने के कारण इसके सेवन से हड्डियां मजबूत होती हैं l


5. मसल्स को बिल्ड करता है l


ब्राउन ब्रेड के अंदर अधिक एनर्जी पाए जाने के कारण यह मसल्स के लिए काफी फायदेमंद होता है l क्योंकि यह ब्रेड केवल आटे बना होता है l जिसके कारण इसमें व्हाइट ब्रेड की तुलना में अधिक प्रोटीन विटामिन और पोषक तत्व पाए जाते हैं जिसके कारण इसको हेल्दी ब्रेकफास्ट के नाम से भी जाना जाता है l


6. कब्ज में फायेदेमंद l


ब्राउन ब्रेड फाइबर युक्त भोजन है l इसलिए इसको खाने से पेट के अंदर मौजूद सारा खाना आसानी से पच जाता है l और जब खाना आसानी से पच जाता है l तो कब्ज होता ही नहीं है इसलिए कब्ज की समस्या से बचने के लिए ब्राउन ब्रेड आसान तथा बेहतरीन विकल्प हो सकता है l इसके अलावा यह रक्त शर्करा के स्तर पर नियंत्रित करता है l ब्राउन ब्रेड आंतो के स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद होता है l जिसके कारण कब्ज में यह काफी फायदेमंद होता है l

7. एनीमिया में फायदे l


ब्राउन ब्रेड के फायदे एनीमिया पीड़ित लोगों के लिए हो सकता है l ब्राउन ब्रेड के अंदर आयरन तथा विभिन्न प्रकार के खनिज जो लाल रक्त कोशिकाओं को पूरी तरह से आपके शरीर में पहुंचने और फेफड़ों में ऑक्सीजन पहुंचाने का काम करता है इसका सेवन करने से आपके शरीर में पर्याप्त मात्रा में आयरन की पूर्ति हो जाती है l इसलिए एनीमिया से ग्रसित लोगों के लिए यह बेहतरीन डाइट हो सकता है l


ब्राउन ब्रेड में पाए जाने वाला पोषक तत्व


ब्राउन ब्रेड अन्य ब्रेड की भांति पोषक तत्व और खनिजों का भरपूर स्रोत होता है ब्राउन ब्रेड के अंदर आयरन विटामिन बी-6, विटामिन-ई, मैग्नीशियम, फॉलिक एसिड, ज़िंक, क़ॉपर और मैगनीज़ ,कार्बोहाइड्रेट, फाइबर ,सोडियम ,ग्लूकोस जैसे कई सारे पोषक तत्व पाए जाते हैं l

Read also
ब्राउन ब्रेड के नुकसान l


ब्राउन ब्रेड के फायदे तो बहुत है l मगर क्या आपको मालूम है कि यह भी होता है l किसी भी खाद्य पदार्थ का अपनी शारीरिक क्षमता से अधिक सेवन कर लेना नुकसान का कारण बन सकता है l ब्राउन ब्रेड के नुकसान भी निम्नलिखित हैं l


.ब्राउन ब्रेड के अंदर फाइबर मैग्नीशियम, विटामिन ई ,विटामिन ए, फैटी एसिड पाया जाता है l जिसके कारण अगर आप इसका अधिक मात्रा में सेवन करते हैं l तो यह आपके शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने का कारण बन सकता है l जिसके कारण आपको दिल की बीमारी की समस्या हो सकती है l


  .ब्राउन ब्रेड को रोजाना सेवन करना आपके लिए नुकसानदेह हो सकता है l इसके अधिक सेवन से आपका मेटाबॉलिक रेट कम हो जाता है l जिसके कारण वजन बढ़ने का खतरा बढ़ जाता है


.ब्राउन ब्रेड का अधिक सेवन करने से आपके शरीर में प्रोटीन फैट जमा होकर कार्बोहाइड्रेट चीनी में परिवर्तित हो जाता है l जिसके कारण यह मधुमेह के रोगियों के लिए घातक हो सकता है l


.अधिक ब्राउन ब्रेड का सेवन करना कब्ज की समस्या का कारण भी बन सकता है l


. संवेदनशीलता या सिलियक रोगियों के लिए ब्राउन ब्रेड नुकसानदेह हो सकता है l क्योंकि यह साबुत गेहूँ से बनाया जाता है l और साबूत गेहूं में ग्लूटेन होता है l


ब्राउन ब्रेड और सफेद ब्रेड में क्या अंतर होता है l


.ब्राउन ब्रेड सफेद ब्रेड की भांति साबुत गेहूं के आटे से बना हुआ होता है l जबकि सफेद ब्रेड केवल मैदे से बनाया जाता
है l
. ब्राउन ब्रेड का साथ सफेद ब्रेड की भांति अलग होता है जिसके कारण यह कुछ लोगों को पसंद नहीं आता है l
. सफेद ब्रेड की भांति ब्राउन ब्रेड महंगी होती है l


कुल मिलाकर ब्राउन ब्रेड एक हेल्दी फूड है जो हमारे शरीर को कई तरह से स्वास्थ्य लाभ प्रदान कर सकता है l मगर ब्राउन ब्रेड की मेकिंग हर जगह अलग-अलग तरीके से की जाती है l कुछ में शुगर की मात्रा मिलाई जाती है l तथा किसी किसी ब्राउन ब्रेड मे चीनी की मात्रा नहीं मिलाई जाती है l तथा कुछ ब्राउन में ब्रेड में तो मैदे का भी इस्तेमाल किया जाता हैl

paneer pulao racipe


और उसने कलर डालकर कर ब्राउन कर दिया जाता है l इसलिए हर ब्राउन ब्रेड कहा जाने वाला वाला ब्रेड ब्राउन ब्रेड नहीं होता है l
कुल मिलाकर, ब्राउन ब्रेड एक स्वस्थ विकल्प है जो कई स्वास्थ्य लाभ प्रदान कर सकता है। हालाँकि, ऐसी ब्राउन ब्रेड चुनना महत्वपूर्ण है जो साबुत गेहूं के आटे से बनी हो और जिसमें अतिरिक्त शर्करा या अस्वास्थ्यकर वसा न हो।